बजट 2017-18 | आम बजट, केंद्रीय बजट के मुख्य बिंदु

भारत सरकार बजट सत्र 2017-18 | वित्त मंत्री अरुण जेटली का भाषण – नयी घोषणाएँ – डाउनलोड करिए नोटिफिकेशन की pdf फाइल व पाइए महत्वपूर्ण जानकारी

दोस्तो इस बार का बजट पेश होने से पहले ही बहुत चर्चा में रहा | विपक्ष ने बहुत कोशिश की के ये बजट चुनावी समय में ना पेश हो लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने सभी अटकलों को हटा के 1 फ़रवरी को ही बजट 2017-18 की तिथि को मंज़ूरी दे दी है | अब ये जानना बहुत ही रोचक है के वित्त मंत्री अरुण जेटली इस बार अपने सूटकेस में क्या नया ले के आएँगे| सत्र 2017-18 का केंद्रीय बजट या आम बजट इस बार क्या हम सब के लिए क्या लाया है, आइए जानते हैं !

1 फ़रवरी 2017 को वित्त मंत्री अरुण जेटली जी अपने भाषण में बजट की संपूर्ण जानकारी प्रस्तुत करेंगे | हालाँकि बजट में कई सारे पहलू रहेंगे, लेकिन कुछ ऐसे पहलू हैं जिनपे हमारी सबसे ज़्यादा नज़र रहेगी | इनकम टेक्स स्लेब , हाउसिंग लोन कुछ ऐसे ही पहलू हैं | हम सबसे पहले आपको ये जानकारी देंगे | वित्त मंत्री के भाषण व बजट से जुड़े नोटिफिकेशन आप यहाँ स pdf फाइल के रूप में डाउनलोड कर पाएँगे |

1 फ़रवरी 2017 को 11 बजे आम / केंद्रीय बजट 2017-18 पेश हुआ

बजट 2017-18 भाषण लाईव | pdf डाउनलोड

अगर आप भाषण लाईव देखना चाहते हैं तो हमारे बताए गये लिंक्स पे देख सकते हैं

उपर दिए गये लिंक्स का प्रयोग करके आप लाईव भाषण देख पाएँगे | इसके अलावा अगर आप बजेट 2017-18 से संबंधित pdf डॉक्युमेंट्स डाउनलोड करना चाहते हैं तो वो भी आसानी से कर सकते हो

Budget 2017-18 in Hindi | आम / केंद्रीय बजट 2017-18 | मुख्य बिंदु

टेक्स स्लेब – जैसा की हम सब जानते हैं कि टेक्स एक महत्वपूर्ण पहलू है | इस बार सबकी नज़र इसी पे रहेगी की टेक्स संबंधित नियमों में कुछ बदलाव होगा के नही

जानकारों की मानी जाए तो इस बार का टेक्स स्लेब कुछ ऐसा हो सकता है –

Taxable आयTax रेट
4 लाख से कम आयशून्य
4 लाख से 8 लाख तक आय4 लाख से अधिक आय का 10 प्रतिशत (अधिकतम 40,000)
8 लाख से 12 लाख तक आय 40,000 + 8 लाख से अधिक आय का 20 प्रतिशत (अधिकतम 1.2 लाख)
12 लाख व उससे उपर की आय 1.2 लाख + 12 लाख से अधिक आय का 25 प्रतिशत

घर या होंम लोन की दर – जिन्होने भी घर खरीदा है वो जानते हैं की होम लोन की दर कितना महत्व रखती है | इस बार सबकी नज़र इस दर पे भी रहेगी | जानकारों की मानी जाए तो इस बार ये व्याज दर घटा दी जा सकती है | सरकार ने हाल में ही प्रधान मंत्री आवास योजना के तहत दरों में सब्सिडी का एलान किया है |

कैशलेस अर्थव्यवस्था – इस बार ये अनुमान लगाया जा रहा है के बजट में कैशलेस अर्थव्यवस्था बनाने की बात होगी | कैशलेस  तरीके अपनाने वाले लोगों को तरह तरह के इनाम व लाभ देने की घोषणा हो सकती है

  • माना जा रहा है के इनकम टेक्स रेट में कमी की जाएगी व HRA की लिमिट भी बढ़ा दी जाएगी |
  • इसी तरह एजुकेशन सेक्टर, किसानों व अन्य सेक्टर्स में भी विभिन्न तरह के घोषणाएँ की जाएँगे |

बजट 2017-18 | जानकारों की राय

  • FICCI प्रेसीडेंट नैना लाल जी का मानना है के ये बजट  विकास उन्मुख होगा
  • आदि गोडरेज, गोडरेज़ के CMD मानते हैं कि इस बार के बजट में टेक्स रेट कम किए जा सकते हैं

अन्य जानकारों के भी कुछ ऐसे ही विचार हैं |

error: Content is protected !!